बेरोज़गार भत्ता योजना 2018

बेरोज़गार भत्ता योजना 2018

हिमाचल प्रदेश मंत्रिमंडल नें सोमवार को बेरोज़गार भत्ता योजना 2018 पर अपनी मोहर लगा दी है | इस योजना को सही ढंग से सुनिश्चित बनाने के लिए outsource आधार पर 140 डाटा एंट्री ओपेरट्रों (data entry operator) को हाइयर करने औरनुबंध आधार पर जूनियर ऑफीस असिस्टेंट (I.T) के 20 पदों के सृजन को अपनी मंज़ूरी प्रदान की | मुख्यमंत्री बीरभद्र के अध्यकश्ता में हुई मंत्रिमंडल बैठक में यह फ़ैसला लिया गया |  पात्र युवाओं को एप्रिल महीने से भत्ता दिया जाएगा | बजट घोषणा के 1 महीने बाद प्रदेश सरकार नें भत्ते की पात्रता शर्तें तय कर दी हैं |

HP Berojgari Bhatta Yojana 2018

मुख्यमंत्री नें अपने बजट वायदे को पूरा करते हुए बेरोज़गारी भत्ता योजना 2018 की घोषणा की थी | इसके लिए वही  युवा बेरोज़गार पात्र होंगें जिन्होने राज्य सरकार दवारा मान्यता  प्राप्त किसी बोर्ड या विश्वविद्यालया से +2 पास किया हो | इसके लिए आवेदन की तिथि से 1 वर्ष पहले से किसी रोज़गार कार्ययालय में पंजीकृत होनी चाहिए | बेरोज़गारी भत्ते के पात्र होने के लिए अन्य शर्तों में आवेदन की तिथि से पूर्व वित्त वर्षों में पति और पत्नी सहित सभी सत्रोतों से वार्षिक वितीय आय 2 लाख रुपय से कम होनी चाहिए | आयु सीमा 20 वर्ष से अधिक और 35 वर्ष से कम होनी चाहिए और सरकारी सेवा से बर्खास्त किया गया नही होना चाहिए | पंजीकरण के एक वर्ष के बाद ही मिलने शुरू होगा बेरोज़गारी भत्ता |

 

बेरोज़गार भत्ता योजना 2018 की पूरी जानकारी

 

Name Of The Scheme —- Himachal Pradesh Berojgari Bhatta Yojana 2017

Age Limit —- Minimum Age —20

 Maximum Age —- 35 years

Yearly Family Income —- Less Then 2 Lacks

Educational Qualification —- +2 

Berojgari Bhatta Yojana Budjet —- 150 Cr.

To Download Berojgaar Bhatta Form & Guidelines Visit This Website — himachal.nic.in/employment/ 

 

बेरोज़गार भत्ता योजना 2018

बैठक में राष्ट्रीय आजीविका मिशन के अंतर्गत दीं दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना के कार्यकाल को मंज़ूरी दे दी गयी है | इस योजना की लागत का 10% हिस्से के योगदान के लिए भारत सरकार को राज्य सरकार की सहमति देने का निर्णय लिया गया है और 15000 युवाओं को प्रशिक्षित किया जाएगा और उनकी प्लेसमेंट सुनिश्चित बनाई जाएगी |

3 वर्षों के लिए 300 करोड़ की योजना का उदेश्य ग़रीब ग्रामीण युवाओं की आय में विविधता लाना है और औपचारिक क्षेत्र में कौशल और प्लेसमेंट पर ध्यान केंद्रित करते हुए उनकी वायव्सायिक आपकेशताओं की पूर्ति करना है ताकि वह नियमित मासिक आधार पर जॉब प्राप्त कर सकें | लाभ पाने वेल परिवारों में B.P.L परिवारों और मांरेगा के अंतर्गत जिन्हे 35 दिनों का नियमित रोज़गार प्रदान किया गया हो वह सभी शामिल होंगें | राज्य सरकार को अभी तक 150 करोड़ रुपय प्राप्त हुए हैं , इसके अलावा अनुबंध आधार पर विभिन्न श्रेणिओन के 61 पदों को सृजित किया जाएगा |

मुख्यमंत्री की बजट घोषणा के अनुरूप मंत्रिमंडल  नें पंचायत सिलाई अध्यापीकाओं का अनुदान Rs2300 प्रतिमाह से बड़ाकर Rs2600 प्रतिमाह करने को भी अनुमति दे दी है | यह बदलाब 1st April 2017 से लागू होंगें | मनतिमंडल ने कारोबार करने को सरल बनाने के लिए हिमाचल प्रदेश वन उत्पाद ट्रांज़िट नियम 2014 के पूर्वलोकन से चौड़ी पट्टी वाले पेड़ों की 14 प्रजात्िओं में छूट देने को भी अपनी मंज़ूरी प्रदान की | लोग अब निजी उपयोग के लिए इन पेड़ों का इस्तेमाल कर सकेंगे |

Important Note 

बेरोज़गार का हिमाचल का मूलनीवासी होना ज़रूरी है | पूरी तरह से भरे गये आवेदन को उसी रोक्गार केंद्र में जमा करवाना होगा | निर्धारित फॉर्म – ए पर भत्ते का दावा और फॉर्म – सी पर हलफ़नामा देना होगा या स्वघोषणा करनी होगी|

बेरोज़गार भत्ते के लिए निम्नलिखित नही होंगें पात्र

प्राइवेट , अर्धसरकारी नौकरी और स्वरोजगार वाले बेरोज़गारी भत्ते के लिए पात्र नही होंगें | सरकारी या अर्धसरकारी नौकरी से बर्खास्त होने वाले या किसी जुर्म में 48 घंटे या इस से अधिक क़ैद में रहने वालों को भी यह भत्ता नही दिया जाएगा | विद्यार्थिओ को भी बेरोज़गार भत्ते से बाहर रखा गया है | नियमों में स्पष्ट किया गया है की अगर कोई भी नियमित विद्यार्थी किसी तरह का कोर्स कर रहा है तो वह बेरोज़गारी भत्ते का हक़दार नही होगा |

2 thoughts on “बेरोज़गार भत्ता योजना 2018

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *